Wednesday, September 5, 2018

International Space Station Ko Kaise Dekhe - Hindi Info

International Space Station जिसका शॉर्ट नाम है ISS ये पृथ्वी के चक्कर लगाता इंसानों द्वारा बनाई गई अब तक की सबसे महंगी मशीन जो हर 90 मिनिट में हमारी पृथ्वी एक चक्कर लगाता है, क्या आप देखना चाहोगे International Space Station को?, लेकिन क्या हम इसे अपनी आँखों से देख सकते है? तो हम आपसे कहेंगे हाँ, आप International Space Station को देख सकते है और वो भी बिना किसी दूरबीन या टेलिस्कोप के, तो आज हम आपको आपके ये सरे सवालों के जवाब इस पोस्ट में देंगे,

  • International Space Station Ko Kaise Dekhe?
  • ISS Kaisa Dikhta Hai?
  • Antariksh Station Ko Kaise Kaise Dekhe, 
  • Without Telescope ISS Kaise Dekhe,
  • ISS ko Kaise Dekhe?
  • International Space Station कैसा दीखता है?
  • अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन कैसे देखे,

International Space Station Ko Kaise Dekhe


International Space Station Ko Kaise Dekhe


International Space Station Ko आप देख सकते है लेकिन International Space Station Ko Kaise Dekhe आपके Location पर कब गुजरेगा इसका टाइम आपको pata लगाना पड़ेगा, जिसके लिए हम आपको दो तरीके बताएँगे की अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन आपके Location से कब गुजरेगा,

International Space Station Ka Location Timing Kaise Dekhe


आप दो तरह से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लोकेशन का pata लगा सकते है, 1 NASA की वेबसाइट से और दूसरा एप्लीकेशन से हम आपको पहला तरीका बताते है,

इसके लिए आप अपने मोबाइल में Google Chorme Web Browser को ओपन करे, और सर्च करे "Spot The Station | NASA" जैसे निचे फोटो में दिखाया है,
अब आपको सबसे पहली दिखने वाली Spot The Station | NASA की साईट को ओपन करना है,

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन कैसे देखे,

और उसमे आपको अपने लोकेशन पर अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन कब गुजरेगा इसका पता लगाने के लिए आपको अपना Location सर्च करना है, मतलब आपने सिटी का नाम सर्च करना है, 1. में आप अपने सिटी का नाम लिखकर सर्च कर सकते है, और 4. दुसरे में आप अपना Location Allow करके डायरेक्ट अपने लोकेशन के बारे में देख सकते है, और अपना Location ढूंढ लेने के बाद उस ब्लू Location पर क्लिक करें और ऑप्शन में जो View Sighting Opportunities की ब्लू लिंक है उसे ओपन करे,

Map में जो ब्लू मार्क लोकेशन दिख रहे है, उसका मतलब है की वहा से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन गुजरता है, और उस लोकेशन के 90 किलोमीटर के अंतर से आप International Space Station को आप आसानी से देख सकते है,

International Space Station Ko Kaha Se dekhe

International Space Station किस Location से गुजरता है उसकी लिस्ट एक या दो हप्ते में अपडेट होती रहती है, अगर आपके Location पर ब्लू मार्क नहीं है तो कुछ दिनों बाद चेक करे, क्योकि International Space Station सभी Location से कभी न कभी तो गुजरता ही है,अगर आपके Location पर ISS का अगले 30 दिनों में नहीं गुजरने वाला है तो आपको नीचे जो फोटो में दिखाया है उस तरह नहीं दिखाया जाएगा,  और आप आने वाले समय में अपने Location पर ISS कब गुजरेगा उसकी notification पाने के लिए Nasa की इस साइट पर singup कर सकते है,

अब आप अपना Location ढूंढ लो टैब आपको आपके लोकेशन पर क्लिक करके ओपन कर देना है,
अब हम आपको इस उदहारण में Jaipur, Rajsthan के Location को सेलेक्ट किया है, 
ऐसे ही आप जिस लोकेशन को सेलेक्ट करोगे उस लोकेशन पर किस टाइम पर International Space Station गुजरेगा उसकी पूरी जानकारी आपको मिलेगी जिसमे date, Time, और कितने समय तक Visible है, International Space Station कौनसी दिशा से निकलेगा और किस दिशा में जायेगा  कितनी दुरी पर गुजरेगा, उसकी पूरी जानकारी आप देख सकते है,

International Space Station Ka Pata Kaise Kare

जब आपके Location से ISS गुजरेगा तो आप उसे बिना कोई टेलिस्कोप या दूरबीन अपनी आँखों से देख सकते है,
खुली जगह जैसे खेत या ऊँची ईमारत से देखने की कोशिस करे,

अब हम आपको दूसरा तरीका बता रहे है,

Sabhi Grah Aur International Space Station Kis Location Par Hai Kaise Jane


ये एप्लीकेशन आपको ISS और बाकि के जितने भी गृह है हमारे ब्रह्माण्ड में और ISS के आलावा जितने भी सॅटॅलाइट अंतरिक्ष में है, उन सभी की जानकारी आपको देगा, यानि कौनसा गृह या सॅटॅलाइट इस समय कहा है, किस दिशा से किस दिशा की तरफ सफ़र कर रहा है, पृथ्वी से कितना दूर सफ़र कर रहा है, किस टाइम किस जगह से गुजरेगा कितने समय तक देख सकते है,  और सभी ग्रह की लाइव Location देख सकते है, और और International Space Station किस जगह है किस दिशा में है, किस दिशा में जा रहा है, पृथ्वी से कितना किलोमीटर दूर है, इसकी Live डायरेक्शन देख सकते है, ये सब जानकारी आपको एक ही एप्लीकेशन में मिलेगी,
तो इसके लिए अपने एंड्राइड मोबाइल में Play Store ओपन करे और सर्च करे "ISS Detector Satellite Tracker" जैसे निचे दिखाया गया है,

International Space Station dekhna Hai

ये एप्लीकेशन आपके Location Allow करने के आप्शन देती है तो एप्लीकेशन को ओपन करते समय लोकेशन Allow करे, अब आपको International Space Station का लाइव लोकेशन दिखायेगा और आपके सिटी के लोकेशन से कब गुजरेगा उसका समय बताएगा,

  1. आप International Space Station कहा पर है कौनसी Direction से जा रहा है,
  2. International Space Station आपके Location से कब गुजरने वाला है, उसका Date, Time,
  3. इस समय आपके Location से कौनसा ग्रह या सॅटॅलाइट गुजरने वाला है,
और आप ISS के अपने लोकेशन पर गुजरने की notification भी पा सकते है,


International Space Station kaise dekhe puri jankari

Note : कई बार ऐसा होता है की आपके Location से ISS गुजरने की टाइम दिखाती है और आप ISS को न देख पाओ इसका मतलब ये नहीं की ISS गुजरा ही नहीं, अगर आप ISS को न देख पाओ उसका कारण मौसम के बदल छाये हो या वातावरण साफ नहीं होना भी है, तो इसके लिए अगली बार ISS का गुजरने का इन्तेजार करे,

तो दोस्तों आशा करते है की आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो और आप International Space Station (अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन) को अपने लोकेशन पार एक बार देख सके,

Monday, September 3, 2018

10 Amazing Antariksh facts - Space Hindi Information

क्या आप जानते है हमारे Antriksha के बारें में? तो आज हम आपको "Amazing Antariksh facts - Space Hindi Information" पोस्ट में अंतरिक्ष से जुड़ी मज़ेदार बातें ज्यादा से ज्यादा बताने की कोशिश करेगे, और आपको Space की मज़ेदार, रोचक और अद्भुत तथ्यों (Amazing Anttariksh Facts) बतायेंगे,

Amazing Antariksh facts - Space Hindi Information


Amazing Antariksh facts - Space Hindi Information


  1. Antariksh (Space) में गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होने के कारण कोई भी चीज हवा में तैरती है, जैसे पानी के ऊपर कोई हलकी चीज तैरती है,
  2. पृथ्वी की समुद्र तल की सतह से Antariksh (Space) करीब 400Km के आसपास जितना दूर है,
  3. पृथ्वी के 110Km के बाद पृथ्वी का वातावरण और गुरुत्वाकर्षण बल 99% जितना ख़त्म हो जाता है, और उसके बाद Antariksh (Space) की शुरुआत हो जाती है,
  4. पृथ्वी से उड़ता विमान ज्यादा ज्यादा पृथ्वी से 11Km to 12Km से कम की दूरी तक उड़ता है,
  5. Antariksh (Space) से हम चाँद का वो आधा हिस्सा देख सकते है, जो पृथ्वी से कभी नहीं दिखाई देता है, यानी Antariksh (Space) से हम पूरा चाँद देख सकते है,
  6. अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station) पृथ्वी से 400Km to 409Km जितना दूर पृथ्वी के चारो ओर चक्कर लगा रहा है,
  7. अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station) प्रति एक सेकंड में 7.66Km की स्पीड से पृथ्वी के चक्कर लगा रहा है,
  8. Antariksh (Space) हर 90 मिनट में सूर्योदय होता है, मतलब एक दिन (24 घंटे) में आप 15 बार सूर्योदय देख सकते है,
  9. Antariksh (Space) अगर 2 धातु के टुकडे को एक साथ मिलाते है तो वो एक हो जाएंगे (मतलब वेडिंग हो जाएगा)
  10. ब्रह्मांड (The Universe) में लाखो galaxy's है, जिसमें हमारी Galaxy को आकाशगंगा कहते है, और English में Milky-way कहा जाता है,
तो दोस्तो ये थे 10 Antariksh Amazing facts और इसके अगले पोस्ट में हम आपको International Space Station (अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन) के बारें में कुछ रोचक जानकारी शेयर करेगे,

हमारे द्वारा शेयर किए जाने वाले पोस्ट/जानकारी आपको कैसी लगी हमें इसके बारे में कॉमेंट करके जरूर बताए,

अगर हमारे द्वारा शेयर की जाने वाली जानकरी आपको पसंद है तो नीचे Subscribe Box से हमारे इस Blog को Subscribe करके Knowledge And Trick पर आने वाले नए पोस्ट की Notification और पोस्ट अपने Email पते पर मेसेज की तरह पा सकते है, Subscribe This Blog

Saturday, August 25, 2018

15 Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें

Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें

  • पृथ्वी (Earth) की घूमने की गति दो प्रकार की है, घुर्णन गति (Rotation) & परिक्रमण गति (Revolution)
  • दैनिक गति को (Rotation) घुर्णन कहा जाता है,
  • वार्षिक गति को (Revolution) कहा जाता है,
  • घुर्णन (Rotation) का मतलब जो पृथ्वी Earth अपनी जगह पर (अपनी धुरी/Axis पर) गोल घूमती है,
  • परिक्रमण (Revolution) का मतलब जो पृथ्वी सूर्य की चारो ओर चक्कर लगाती है,
  • पृथ्वी (Earth) को अपनी खुद की जगह/धुरी (Axis) पर एक बार घूमने में 24 घंटे लगते है, जिसकी हम एक दिन में गिनती करते है, (जो वैज्ञानिक गिनती में 23:54:04 है)
  • पृथ्वी (Earth) को सूर्य का चक्कर लगाने में 365 दिन लगते है, जिसकी हम एक साल में गिनती करते है, (जो वैज्ञानिक की गिनती में 365 दिन 6 घंटा है)
  • हर साल के 6 घंटे ज्यादा होते है जो 4 साल के जोड़ने के बाद चौथा साल 366 दिनों का हो जाता है जिसे हर चौथे साल के फरवरी माह में जोड़ दिया जाता है, उस साल फरवरी 29 दिनों का होता है,
  • पृथ्वी (Earth) अपनी जगह/धुरी (Axis) पर 1,619 किलोमीटर प्रति एक घंटे की स्पीड से घूमती है,
  • पृथ्वी (Earth) सूर्य की चारो ओर 1,07,150 किलोमीटर प्रति एक घंटे की स्पीड से घूमती है, (इसे Revolution Speed कह सकते है)
  • पृथ्वी अपनी जगह पर घूमती है जिससे पृथ्वी पर सूर्य उदय/अस्त (दिन/रात) होता है,
  • पृथ्वी सूर्य की चारो ओर चक्कर लगाती है जिससे ऋतुओं का बदलाव होता है,
  • पृथ्वी में अगर हम आरपार निकलने वाली सुरंग बना दे तो हमें पृथ्वी के उस पार जाने में करीब 50 मिनट्स लग सकती है,
  • चंद्र पृथ्वी की परिक्रमा करते हुए घूमता है लेकिन हमने चंद्र को जबसे देखते आ रहे तबसे हमने सिर्फ उसका आधा हिस्सा ही देखा है,
  • चंद्र इस तरह से अपनी धुरी (Axis) पर घूमता है कि एक ही हिस्सा (काले धब्बे वाला) पृथ्वी की तरफ रहता है,
  • चंद्र जला हुआ है, इसलिए हमें चंद्र में काले धब्बे/दाग दिखते है,
  • चंद्र का आधा हिस्सा पूरी तरह से काला है, जो हमें कभी नहीं दिखाई पड़ता,
  • चंद्र का एक हिस्सा जो पीछे की और है वो कभी भी पृथ्वी से नहीं देख सकते सिर्फ़ अंतरिक्ष से ही उसका आधा (पिछला) हिस्सा देखा जा सकता है,
  • अगर आप सूर्य को टेनिस का बोल माने तो पृथ्वी एक मोती जितनी छोटी है, यानी सूर्य पृथ्वी से हजारो गुना बड़ा है,
  • पृथ्वी से कई गुने बड़े सूर्य को छोड़कर तीन ग्रह और है,
  • पृथ्वी की 70% हिस्से में पानी है, जिसमें से 97% पानी खारा है,


Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें


Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें

ऊपर जो Facts बताए है उसके अलावा हम इस पोस्ट "Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें" में और भी बहोत सी रोचक जानकारियां बता रहे है,

पृथ्वी कैसे घूमती है?


पृथ्वी अपनी धुरी (Axis) पर गोल घूमती है, और साथ में उसकी धुरी (Axis) जो है वो भी अपनी जगह से घूमती है,
पृथ्वी के घूमने से ही हमारी पृथ्वी पर सूर्य उदय और अस्त होता है,
इसे सूर्योदय और सूर्यास्त हमारे देवताओ ने कहा है,
और पृथ्वी के लिए तो उसके घूमने पर सूरज सामने की दिशा में चला जाता है और दिखना बन हो जाता है, मतलब पृथ्वी का आधा हिस्सा सूरज के सामने रहता है तो वहा दिन होता है,
और आधा हिस्सा पीछे होने से वहा सूरज की रोशनी नहीं पहुंचती तो वहा रात होती है, सूर्य कभी भी कही छिपता ही नहीं है वो हमेशा तपता ही रहता है,
और  पृथ्वी सूर्य के की परिक्रमा करते हुए चक्कर लगाती है तो उससे पृथ्वी पर मौसम में बदलाव होता है,


Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें

पृथ्वी की सीमा का अंत कहा पर है?


क्या आपके मन में कभी ये विचार आया कि पृथ्वी (Earth) की सीमा कहा ख़त्म होती होगी?
अगर आया है तो हम आपकी उस confusion को क्लियर कर देते है,

पृथ्वी का की सीमा का अंत है ही नहीं, क्योकि पृथ्वी गोल है, और सभी पृथ्वी वासी पृथ्वी की चारो ओर बसे हुए है,
और गुरुत्वाकर्षण बल की वजह से हम और बाकी सभी चीजें पृथ्वी पर चिपकी हुई है, अब शायद आपके मन में ये सवाल उठ रहा होगा कि पृथ्वी घूमती रहती है और हम ऐसे ही क्यो है? हमें इसका पता क्यो नही चलता है?
तो इसका जवाब है गुरुत्वाकर्षण बल अब गुरुत्वाकर्षण बल क्या है उसके बारे में कुछ विस्तार से बताते है,

पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल क्या है? Earth Amazing Facts Hindi Me - पृथ्वी के बारे में दिलचस्प बातें


गुरुत्वाकर्षण बल जिसे इंग्लिश में Gravity कहते है, मतलब पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल होने से कोई भी वस्तु बिना सहारे की होगी वो जमीन पर चली आएगी,
और अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण बल ना कि वजह से वहां कोई भी चीज या इन्सान हवा में तैरता है जैसे पानी में जहाज तैरता है,
वहा पानी की बूंद भी रख दी जाए तो वो भी हवा में तैरती रहेगी और अपनी जगह पर बनी रहेगी,
पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल के कारण कोई भी चीज वो अपनी तरफ खींच लेती है जैसे लोहा चुंबकीय चीज की खिंचा चला जाता है,
और हमारी पृथ्वी सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती है जो 1 साल में पूरा एक चक्कर लगाती है जिससे पृथ्वी पर मौसम बदलते है,

सूरज चाँद और तारे हमेशा ऐसे ही चमकते रहते है दिन में सूरज की रोशनी ज्यादा होने से चाँद और तारे हमें सिर्फ़ रात को दिखते हैं

तो फ्रेंड कैसी लगी आपको हमारी Earth Amazing Facts Hindi Me पोस्ट की जानकारी?
हमे कमेंट करके जरूर बताए,
हमे आपकी राय जान कर बड़ी खुशी होगी,


यहां से पढ़े



Labels Cloud